Single Blog VS Multiple Blog

Single Blog VS Multiple Blog – Hello दोस्तों, दोस्तों आज के इस पोस्ट में मैं बात करने वाला हूँ आज के टाइम में नए ब्लॉगर के मन में उठने वाले सबसे बड़ा सवाल।

जब भी ब्लॉग्गिंग फील्ड में कोई भी आपके जैसा नया ब्लॉगर आता है तो माइंड में एक बहुत ही बड़ी सवाल आते है कि यार हमें एक ब्लॉग पे किसी सिंगल niche पर ही काम करना चाहिए, एक ही केटेगरी पर फोकस करना चाहिए या हमें Multiple ब्लॉग पे multiple niche के ऊपर काम करना चाहिए !

तो चलिए शुरू करते हैं –

Single Blog VS Multiple Blog

बिगिनर लेवल

तो दोस्तों मेरे 5 साल के Experience से आपको यही बताऊंगा कि जब भी आप ब्लॉग्गिंग फील्ड में एंटर कर रहे हो तो पहले स्टार्टिंग में एक साल तक सिर्फ किसी एक Niche या एक टॉपिक पर ही फोकस करो।

एक कहावत याद आया मुझे – अगर आप एक साथ दो नाँव पर पैर रखते हो तो ना आप इधर के रहते हो ना ही आप उधर के रहोगे।

तो शुरू में आप एक अच्छा सा Niche फाइंड करो, और अच्छे से करो और उस पर शुरू कर दो।

आपको उसी एक Niche पर कमसे कम 6 महीने से 1 साल दो, लेकिन हाँ आपको एकदम अच्छे से रिसर्च करनी है।

उसमें आपको देखना है Traffic Volume, CPC, Competition, आपके Competitor कौन कौन है ? गूगल पर सर्च करके देख लो।

ऐसे ही काम मत करो कि कुछ भी टॉपिक उठा लिया, किसी से सुना कि Tech केटेगरी में पैसा ज्यादा है तो आपने भी बिना सोचे-समझे उस पर कंटेंट बनाना शुरू कर दिया।

कुछ महीने काम किया और देखा ट्रैफिक तो आ ही नहीं रहे हैं। और आप डिमोटिवेट होके ब्लॉग्गिंग छोड़ने का फैसला कर लेते हैं।

तो जब भी आप किसी टॉपिक या Niche के बारे में रिसर्च कर रहे हो तो जब भी आप शुरुवात कर रहे हो, तो शुरुवात में बहुत सारी प्रॉब्लम आएंगी।

अगर आप शुरू में ही बहुत सारा बोझ लेकर के चलोगे multiple niche पर काम करोगे ना, तो आपके माइंड स्टेबल नहीं रह पायेगा। आप फोकस भी नहीं कर पाओगे।

कुछ साल पहले ये काम Multiple Niche काम करता था, लेकिन अभी नहीं करता।

अगर आप दो ब्लॉग एक साथ शुरू कर रहे हो तब ना आपको पहले में और ना ही आपको दूसरे में।

लेकिन आप स्टार्टिंग में अगर आप किसी एक टॉपिक पर ही एक ब्लॉग बनाते हो, बढ़िया से आपने रिसर्च करके ही उसमें कंटेंट क्रिएट करते हो तो आपका ये चांसेस रहेगा कि आप उसमें अपना 100% दोगे। तो कुछ 3-4 महीने में आपकी साइट रैंक होना शुरू हो जाएगी।

और ये एक Topic या एक Niche वाली साइट को Google सबसे ज्यादा पसंद भी करता है। और गूगल को पसंद मतलब आपके साइट में आर्गेनिक ट्रैफिक आने लगता है।

Organic Traffic मतलब Quality ट्रैफिक और कमाई ज्यादा। लाइफटाइम सक्सेस।

इंटरमीडिएट लेवल

दोस्तों जैसे जैसे आप ब्लॉग्गिंग फील्ड में एक्सपीरियंस गेन करते जाते हो, तो मान लीजिये आपने पहला जो ब्लॉग सेटअप करा था उसमें 6-12 महीने दिया, उसमें आपको अच्छा ट्रैफिक मिलने लगा और कमाई भी होने लगा।

तो जैसे ही आपको वैसा रिजल्ट देखने को मिलेगा तभी आप Multiple Topic के ऊपर ब्लॉग बनाना है।

अगर आप Multiple Blog बनाओगे तो Multiple Income सोर्स क्रिएट होगा और अगर आपके कोई ब्लॉग एक दिन गूगल ने रिमूव कर दिया तब भी आपके इनकम सोर्स बंद नहीं होंगे।

कई बार इसा होता है कि आप किसी ब्लॉग या वेबसाइट पर काम कर रहे हो, कही होस्टिंग के लेवल पे कोई प्रॉब्लम आ रही है, कही डोमेन लेवल पर कोई प्रॉब्लम आ जाती है, कही किसी ने Hack कर लिया आपके साइट, तब आपको इतना नुकसान होता है ना कि आप बहुत ज्यादा दुःखी होने लगते हो।

कही Google के Core Update आ गयी तो आपकी ब्लॉग की रैंकिंग घट जाती है, वही पर अगर आपके पास एक लेवल पर Multiple Blog होगा ना तो ये Core Update से सबके सब ब्लॉग की रैंकिंग नीचे नहीं जाएगी।

किसी का रैंकिंग डाउन होगा तो किसी का Up. इसलिए जब एक लेवल पर आ जाते है तब आपको Multiple ब्लॉग बना लेना चाहिए।

दोस्तों जब भी Google के Core अपडेट आते हैं तो वो अलग अलग टॉपिक रिलेटेड चीजों के ऊपर फोकस करते है।

  • कई बार क्या होता है कि कुछ Affiliate Marketing से रिलेटेड ब्लॉग होती है उनकी रैंकिंग डाउन हो जाती है।
  • कई बार होता है कि Tech साइट की रैंकिंग डाउन हो जाती है।
  • कई बार सारे ब्लोग्स या वेबसाइट के ही रैंकिंग डाउन हो जाते हैं, बाद में किसी के Up होता है और किसी के डाउन होता ही चला जाता है।
  • कई बार किसी ब्लॉग के रैंकिंग एकदम टॉप पर आ जाती है और किसी का दूसरे या तीसरे पेज पर चला जाता है।

ये डिपेंड करता है, गूगल के अपडेट के ऊपर और गूगल कभी उनके अपडेट के बारे डिटेल में बताते भी नहीं है।

कि आप अपने साइट में ये कर लो तो आपकी साइट की रैंकिंग Up हो जाएगी। और इसलिए कोई SEO एक्सपर्ट कुछ भी कर भी नहीं सकता। और आपके साइट डाउन ही हो जाते हैं।

लेकिन अगर आपके पास Multiple Blogs है, Multiple Niche के ब्लॉग है तो सभी ब्लॉग में Google के Core Update प्रभाव नहीं पड़ता है और उस सिचुएशन में आपको थोड़ा बहुत ही नुकसान होगा, ज्यादा नुकसान एकदम से नहीं होगा।

लेकिन ये Multiple Niche Blog तभी बनाना है जब आपको इस फील्ड में कमसे कम 6 महीने या 1 साल का एक्सपीरियंस हो जाये।

शुरू में आपको सिर्फ किसी एक Niche पे ही एक ब्लॉग बनाना है, जिसमें आपने रिसर्च करा और उसमें आपको 100% फोकस्ड होके काम करना है। और एक बात ध्यान रखना है एक ब्लॉग में एक टॉपिक के ऊपर कमसे कम एक साल आपको देना है और जितना हो सके उसमें Best Quality Unique पोस्ट लिखना है।

आप किसी और से कुछ भी पोस्ट की चोरी मर कीजियेगा, ऐसा करने से आपको कुछ भी इनकम नहीं मिलेगा, ना ट्रैफिक और ना ही रैंकिंग।

आप ऐसा कभी भी मत करो शुरुवात में कि आप किसी एक टॉपिक में काम कर रहे हो उसमें एक साल हो गए और आपको उस ब्लॉग पे कोई रैंकिंग या कोई ट्रैफिक या कोई कमाई यानी कोई सक्सेस नहीं मिला है फिर भी आप लगे हुए हो।

एक साल तक किसी एक चीज के ही पीछे भागे जा रहे हो, भागे जा रहे हो।

जब आपको लगता है 6 महीने के बाद भी उसमें कोई सक्सेस नहीं मिल रही है, वो चीज आपके रैंक ही नहीं कर रहे हैं, आपको ये चीज देखनी है कि कही अपने बड़ी गलती वगैरह तो नहीं कर रहे हो।

अगर आप अपनी गलती Find Out कर लेते हो, और ब्लॉग्गिंग को सही ढंग से करते हो, अलग तरीकेसे करते हो तो आपको एक साल में सक्सेस मिल ही जाता है।

हाँ ऐसा भी होता है एक साल में बहुत ज्यादा सक्सेस नहीं मिलता है लेकिन आपने देखा कि हर महीने ट्रैफिक इनक्रीस होता चला जा रहा है, इनकम भी बढ़ता ही जा रहा है तब उसी में काम करते जाइये और साथ साथ और ब्लॉग बनाते जाइये।

आपको एक टाइम सेट करना है कि इसे मैं एक साल तक करूँगा या दो साल तक करूँगा। कि मैं इस ब्लॉग में एक साल दूंगा और तब कमसे कम इतना ट्रैफिक मुझे मिलने लगेगा।

क्यूंकि ब्लॉग्गिंग में एक साल देना ही होता है और आजकल कम्पटीशन की वजह से ज्यादातर लोग फ़ैल हो जाते हैं।

अगर आप अपने गोल के पास पहुँचते हो और आपको उसमें ग्रोथ दिख रही है तब उस चीज पर Consistently काम करो, लेकिन अपने देखा कि मैंने ये चीज करी और मुझे एक साल या दो साल में भी बिलकुल भी सक्सेस नहीं मिली, जैसा मैंने गोल बनाया वहां तक मैं नहीं पहुँच रही हूँ तो आपको किसी दूसरी टॉपिक पर शिफ्ट हो जाना चाहिए।

बहुत सारे लोगों के साथ ऐसा होता है कि एक टॉपिक पर ब्लॉग शुरू किया नहीं हुआ, उसके बाद अलग अलग टॉपिक पर ब्लॉग बनाया और उसके बाद 5-10 टॉपिक के ऊपर का करने के बाद किसी एक टॉपिक पर जाके सक्सेस मिलती है।

इसलिए 6 महीने एक साल बाद आप Multiple Blog पे फोकस्ड करो।

वैसे मेरा पहला ही ब्लॉग आज भी चल रहा है। लेकिन उसमें सक्सेस पाने के लिए 1-2 साल लगे।

कभी कभी जब भी आप किसी चीज की शुरुवात करते हो कभी कभी एक-दो बार बार उसमें फेलियर का सामना करना पड़ता है क्यूंकि आपको सही Guidence नहीं होते हैं। सही नॉलेज आपके पास नहीं होते हैं।

लोग कुछ भी बोल रहे हैं उनके फायदे के लिए आप वही चीज करोगे जाके। खास कर यूट्यूब पर बहुत सारे लोग गलत इनफार्मेशन देते हैं और जिसको आप फॉलो करते हो और कुछ 6 महीने एक साल बाद आपको लगता है ब्लॉग्गिंग में सब गलत सिखाते हैं।

Conclusion

तो दोस्तों आपको शुरुवात की सारा कॉन्सेप्ट समझ में आ गया होगा कि शुरुवात में बस एक ही ब्लॉग पर एक ही टॉपिक पर काम करना है।

आपको आज आज का यह पोस्ट कैसे लगा ?

अगर आपके मन में कोई भी सवाल या सुझाव है तो मुझे नीचे कमेंट करके जरूर बताये।

कुछ भी हेल्प चाहिए तो हमसे Paid Consultency ले सकते हैं। कांटेक्ट कीजिये whatsapp पर – 9101025898

आपका बहुमूल्य समय देने के लिए दिल से धन्यवाद,

Wish You All The Very Best.

सम्बंधित लेख –

Leave a Comment